हिन्दू तन मन हिन्दू जीवन रग रग हिन्दू मेरा परिचय कविता, Hindu tan man hindu jeevan Rag rag hindu mera parichay lyrics, rag rag hindu mera parichay poem

Motivational thoughts in hindi पर आज हम पढ़ेंगे भारत के एक महान नेता और कवि अटल बिहारी वाजपेयी जी द्वारा लिखित हिन्दू तन मन हिन्दू जीवन रग रग हिन्दू मेरा परिचय कविता, Hindu tan man hindu jeevan, Rag rag hindu mera parichay lyrics in hindi, Hindu tan man hindu jeevan, Rag rag hindu mera parichay poem by Atal Bihari Vajpayee।


हिन्दू तन मन हिन्दू जीवन, रग रग हिन्दू मेरा परिचय कविता Hindu tan man hindu jeevan, Rag rag hindu mera parichay poem by Atal Bihari Vajpayee -:


हिन्दु तन मन हिन्दु जीवन रग रग हिन्दु मेरा परिचय॥


मैं शंकर का वह क्रोधानल कर सकता जगती क्षार क्षार

डमरू की वह प्रलयध्वनि हूं जिसमे नचता भीषण संहार

रणचंडी की अतृप्त प्यास मै दुर्गा का उन्मत्त हास

मैं यम की प्रलयंकर पुकार जलते मरघट का धुँवाधार

फिर अंतरतम की ज्वाला से जगती मे आग लगा दूं मै

यदि धधक उठे जल थल अंबर जड चेतन तो कैसा विस्मय

हिन्दु तन मन हिन्दु जीवन रग रग हिन्दु मेरा परिचय॥


मैं आदि पुरुष निर्भयता का वरदान लिये आया भूपर

पय पीकर सब मरते आए मै अमर हुवा लो विष पीकर

अधरोंकी प्यास बुझाई है मैने पीकर वह आग प्रखर

हो जाती दुनिया भस्मसात जिसको पल भर मे ही छूकर

भय से व्याकुल फिर दुनिया ने प्रारंभ किया मेरा पूजन

मैं नर नारायण नीलकण्ठ बन गया न इसमे कुछ संशय

हिन्दु तन मन हिन्दु जीवन रग रग हिन्दु मेरा परिचय॥


मैं अखिल विश्व का गुरु महान देता विद्या का अमर दान

मैने दिखलाया मुक्तिमार्ग मैने सिखलाया ब्रह्म ज्ञान

मेरे वेदों का ज्ञान अमर मेरे वेदों की ज्योति प्रखर

मानव के मन का अंधकार क्या कभी सामने सकठका सेहर

मेरा स्वर्णभ मे गेहर गेहेर सागर के जल मे चेहेर चेहेर

इस कोने से उस कोने तक कर सकता जगती सौरभ मै

हिन्दु तन मन हिन्दु जीवन रग रग हिन्दु मेरा परिचय॥


मैं तेजःपुन्ज तम लीन जगत मे फैलाया मैने प्रकाश

जगती का रच करके विनाश कब चाहा है निज का विकास

शरणागत की रक्षा की है मैने अपना जीवन देकर

विश्वास नही यदि आता तो साक्षी है इतिहास अमर

यदि आज देहलि के खण्डहर सदियोंकी निद्रा से जगकर

गुंजार उठे उनके स्वर से हिन्दु की जय तो क्या विस्मय

हिन्दु तन मन हिन्दु जीवन रग रग हिन्दु मेरा परिचय॥


दुनिया के वीराने पथ पर जब जब नर ने खाई ठोकर

दो आँसू शेष बचा पाया जब जब मानव सब कुछ खोकर

मैं आया तभि द्रवित होकर मै आया ज्ञान दीप लेकर

भूला भटका मानव पथ पर चल निकला सोते से जगकर

पथ के आवर्तोंसे थककर जो बैठ गया आधे पथ पर

उस नर को राह दिखाना ही मेरा सदैव का दृढनिश्चय

हिन्दू तन मन हिन्दू जीवन रग रग हिन्दू मेरा परिचय॥


मैने छाती का लहु पिला पाले विदेश के सुजित लाल

मुझको मानव मे भेद नही मेरा अन्तःस्थल वर विशाल

जग से ठुकराए लोगोंको लो मेरे घर का खुला द्वार

अपना सब कुछ हूं लुटा चुका पर अक्षय है धनागार

मेरा हीरा पाकर ज्योतित परकीयोंका वह राज मुकुट

यदि इन चरणों पर झुक जाए कल वह किरिट तो क्या विस्मय

हिन्दू तन मन हिन्दू जीवन रग रग हिन्दू मेरा परिचय॥


मैं वीरपुत्र मेरि जननी के जगती मे जौहर अपार

अकबर के पुत्रोंसे पूछो क्या याद उन्हे मीना बझार

क्या याद उन्हे चित्तोड दुर्ग मे जलनेवाली आग प्रखर

जब हाय सहस्त्रो माताए तिल तिल कर जल कर हो गई अमर

वह बुझनेवाली आग नही रग रग मे उसे समाए हूं

यदि कभि अचानक फूट पडे विप्लव लेकर तो क्या विस्मय

हिन्दु तन मन हिन्दु जीवन रग रग हिन्दु मेरा परिचय॥


होकर स्वतन्त्र मैने कब चाहा है कर लूं सब को गुलाम

मैने तो सदा सिखाया है करना अपने मन को गुलाम

गोपाल राम के नामोंपर कब मैने अत्याचार किया

कब दुनिया को हिन्दु करने घर घर मे नरसंहार किया

कोई बतलाए काबुल मे जाकर कितनी मस्जिद तोडी

भूभाग नही शत शत मानव के हृदय जीतने का निश्चय

हिन्दू तन मन हिन्दू जीवन रग रग हिन्दू मेरा परिचय॥


मैं एक बिन्दु परिपूर्ण सिन्धु है यह मेरा हिन्दु समाज

मेरा इसका संबन्ध अमर मै व्यक्ति और यह है समाज

इससे मैने पाया तन मन इससे मैने पाया जीवन

मेरा तो बस कर्तव्य यही कर दू सब कुछ इसके अर्पण

मैं तो समाज की थाति हूं मै तो समाज का हूं सेवक

मैं तो समष्टि के लिए व्यष्टि का कर सकता बलिदान अभय

हिन्दु तन मन हिन्दु जीवन रग रग हिन्दु मेरा परिचय॥


Thank you for reading हिन्दू तन मन हिन्दू जीवन रग रग हिन्दू मेरा परिचय कविता, Hindu tan man hindu jeevan, Rag rag hindu mera parichay lyrics in hindi, Hindu tan man hindu jeevan, Rag rag hindu mera parichay poem by Atal Bihari Vajpayee.


Anya Motivational Lekh -:

-- आरम्भ है प्रचंड बोले मस्तकों के झुंड

-- नेताजी सुभाष चंद्र बोस के विचार

-- महाराणा प्रताप के विचार

-- छत्रपति शिवाजी महाराज के विचार

-- चंद्रशेखर आजाद के विचार

-- शहीद भगत सिंह के विचार

-- रामधारी सिंह दिनकर के विचार

-- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विचार

-- स्वामी विवेकानंद के विचार


Please do Subscribe -: Youtube Channel

Post a Comment

Previous Post Next Post