Motivational Thoughts in Hindi par aaj hum padenge lekhak Indeevar dwara likhit Purab aur Paschim film ke geet Hai Preet Jahan Ki Reet Sada Lyrics, Hai Preet Jahan Ki Reet Sada Song Lyrics, है प्रीत जहाँ की रीत सदा लिरिक्स.

फिल्म : पूरब और पश्चिम (1970)

संगीतकार : कल्याणजी-आनंदजी

गीत के लेखक : इन्दीवर

गायक : महेंद्र कपूर

Hai Preet Jahan Ki Reet Sada Lyrics, है प्रीत जहाँ की रीत सदा लिरिक्स -:


जब ज़ीरो दिया मेरे भारत ने

भारत ने

मेरे भारत ने

दुनिया को तब गिनती आयी


तारों की भाषा भारत ने

दुनिया को पहले सिखलायी

देता ना दशमलव भारत तो

यूँ चाँद पे जाना मुश्किल था

धरती और चाँद की दूरी का

अंदाज़ा लगाना मुश्किल था

सभ्यता जहाँ पहले आयी

सभ्यता जहाँ पहले आयी

पहले जनमी है जहाँ पे कला


अपना भारत वो भारत है

जिसके पीछे संसार चला

संसार चला और आगे बढ़ा

यूँ आगे बढ़ा

बढ़ता ही गया

भगवान करे ये और बढ़े

बढ़ता ही रहे और फूले-फले

बढ़ता ही रहे और फूले-फले


है प्रीत जहाँ की रीत सदा


है प्रीत जहाँ की रीत सदा

है प्रीत जहाँ की रीत सदा

मैं गीत वहाँ के गाता हूँ

भारत का रहने वाला हूँ

भारत की बात सुनाता हूँ


है प्रीत जहाँ की रीत सदा


काले - गोरे का भेद नहीं

हर दिल से हमारा नाता है

कुछ और न आता हो हमको

हमें प्यार निभाना आता है

जिसे मान चुकी सारी दुनिया

जिसे मान चुकी सारी दुनिया

मैं बात 

मैं बात वो ही दोहराता हूँ


भारत का रहने वाला हूँ

भारत की बात सुनाता हूँ


है प्रीत जहाँ की रीत सदा


जीते हो किसी ने देश तो क्या

हमने तो दिलों को जीता है

जहाँ राम अभी तक है नर में

नारी में अभी तक सीता है

इतने पावन हैं लोग जहाँ

इतने पावन हैं लोग जहाँ

मैं नित-नित 

मैं नित-नित शीश झुकाता हूँ


भारत का रहने वाला हूँ

भारत की बात सुनाता हूँ


इतनी ममता नदियों को भी

जहाँ माता कह के बुलाते हैं

इतना आदर इन्सान तो क्या

पत्थर भी पूजे जाते हैं

उस धरती पे मैंने जनम लिया

उस धरती पे मैंने जनम लिया

ये सोच 

ये सोच के मैं इतराता हूँ


भारत का रहने वाला हूँ

भारत की बात सुनाता हूँ


है प्रीत जहाँ की रीत सदा


Hai Preet Jahan Ki Lyrics in english from Purab Aur Paschim -:


Jab zero diya mere Bharat ne

Bharat ne

mere Bharat ne

duniya ko tab ginati aayi


taaron ki bhasha bharat ne

duniya ko pahale sikhlayi

deta na dashamlav bharat to

yun chand pe jana mushkil tha

dharati aur chand ki duri ka

andaja lagana mushkil tha

sabhyata jahan pahale aayi

sabhyata jahan pahale aayi

pahale janmi hai jahan pe kala


apna bharat wo bharat hai

jiske pichhe sansar chala

sansar chala aur aage badha

yun aage bada

badta hi gaya

bhagwan kare ye aur bade

badta hi rahe aur fule fale

badta hi rahe aur fule fale


hai preet jahan ki reet sada


hai preet jahan ki reet sada

hai preet jahan ki reet sada

main geet wahan ke gaata hun

bharat ka rahne wala hoon

bharat ki baat sunata hoon


hai preet jahan ki reet sada


kaale - gore ka bhed nahi

har dil se hamara naata hai

kuch aur na aata ho humko

hame pyar nibhana aata hai

jise man chuki sari duniya

O

jise man chuki sari duniya

main baat wo hi dohrata hu


bharat ka rehne wala hoon

Bharat ki baat sunata hoon


hai preet jahan ki reet sada


jeete ho kisi ne desh to kya

humne to dilon ko jeeta hai

jahan ram abhi tak hai nar mein

nari mein abhi tak seeta hai

itne pawan hain log jahan

O

itne pawan hain log jahan

main nit-nit 

main nit-nit sheesh jhukata hoon


bharat ka rehne wala hoon

Bharat ki baat sunata hoon


itni mamta nadiyon ko bhi

jahan mata kah ke bulaate hain

itna aadar insan to kya

pathar bhi puje jaate hain

uss dharti pe maine janam liya

O

uss dharti pe maine janam liya

yeh soch 

yeh soch ke mai itrata hoon


bharat ka rehne wala hoon

bharat ki baat sunata hoon


Hai Preet Jahan ki reet sada


Thank you for reading Hai Preet Jahan Ki Reet Sada Lyrics, Hai Preet Jahan Ki Reet Sada Song Lyrics, है प्रीत जहाँ की रीत सदा लिरिक्स.

अन्य लेख -:

-- कर हर मैदान फतेह

-- चक दे इंडिया

-- आरम्भ है प्रचंड बोले मस्तकों के झुंड

-- अमृता प्रीतम की शायरी

-- गुलज़ार साहब की शायरी


Please do subscribe -: Youtube Channel

Post a Comment

Previous Post Next Post