Plato ke anmol vichar, दार्शनिक प्लेटो के विचार, Plato Quotes In Hindi, Plato ke anmol vachan, Plato Thought in hindi

Motivational thoughts in hindi पर आज हम पढ़ेंगे Plato ke anmol vichar, दार्शनिक प्लेटो के विचार, Plato Quotes In Hindi, Plato ke anmol vachan, Plato Thought in hindi.


Plato Books -: The RepublicGreat Dialogues of PlatoA History of Political Thought: Plato to Marx


Plato ke anmol vichar -:


~ यदि उद्देश्य नेक ना हो तो ज्ञान बुराई बन जाता है।


~ तीन वर्ग के लोग होते हैं -: ज्ञान के प्रेमी, सम्मान के प्रेमी, और लाभ के प्रेमी।


~ इंसान का व्यवहार अभिलाषा, भावना और ज्ञान इन तीन मुख्य स्रोतों से बना होता है।


~ घटिया लोगों द्वारा हुकूमत को स्वीकार करना, आपके राजनीति में भाग लेने से मना करने के दंड में से एक है।


~ जो लोग अच्छे सेवक नहीं होते है, वो लोग अच्छे मालिक भी नहीं बन सकते है।


~ प्रेम एक गंभीर मानसिक बीमारी है।


~ छोटी क्लास में अच्छी शिक्षा मिलना ही पढ़ाई लिखाई का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, इसलिए अपने बच्चों को शुरू से ही अच्छे संस्कार दीजिए।


~ जो चीज़ सुंदर है उसी को प्यार करने के लिए सिखाना शिक्षा का उद्देश्य है।


~ घर को बनाते समय छोटे पत्थरों के बिना बड़े पत्थर अच्छी तरह से नही लग सकते है, इसका मतलब यह कि एक टीम में हर एक व्यक्ति का महत्व होता है।


~ अज्ञानता, सभी बुराइयों का मूल कारण है।


~ कोई क़ानून या अध्यादेश समझ से अधिक शक्तिशाली नहीं हैं।


~ समझदार व्यक्ति इसलिए बोलता है क्योंकि उसके पास बोलने के लिए या दुसरो से बांटने के लिए कई अच्छी बाते होती है, लेकिन एक बेवकूफ व्यक्ति केवल इसलिए बोलता है क्योंकि उसे कुछ न कुछ बोलना होता है।


~ मजबूरी में अर्जित किया गया ज्ञान मन पर पकड़ नहीं बना पाता।


~ चमचमाती हुई स्वर्ण से जड़ित अनुपयोगी ढाल से गोबर की उपयोगी टोकरी अधिक सुंदर है।


~ सभी माता-पिता अपने बच्चों को वसीयत में धन दौलत नही बल्कि आस्था, श्रद्धा की भावना दे।


~ कोई भी इंसान एक साथ कई प्रतिभाओं में निपुण नहीं हो सकता है।


~ जो लोग महान बनना चाहते है, उन लोगों को न तो खुद से और न ही अपने काम से प्रेम करना चाहिए, उन लोगों को बस जो उचित लगे उसे ही प्रेम करना चाहिए, फिर चाहे वो खुद के द्वारा या किसी ओर के द्वारा किया जाए।


~ कवि ऐसी महान और बुद्धिमान बातें कहते हैं जो वो खुद नहीं समझते।


~ इंसानों के जीवन में ऐसा कुछ भी नहीं है जिसके लिए बहुत चिंता की जाए।


~ समस्या यह नहीं होती है कि बच्चे अंधेरे से डरते है, बल्कि समस्या तो यह होती है कि बड़े लोग उजाले से डरते है।


~ एक आदमी की पहचान इससे होती है कि वो शक्ति के साथ क्या करता है।


~ खुद को इस जन्म में और अगले जन्म में काम पर लगाना चाहिए, क्योंकि बिना काम किए आप समृद्ध नहीं बन सकते है।


~ आवश्यकता, अविष्कार की जननी है।


~ किसी भी कार्य की शुरुआत करना ही उसका सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है।


~ इस धरती पर जितना भी सोना है, वह हमारे सदगुणों के बदले देना पर्याप्त नहीं है।


~ हम सब में ऐसी ताकत है जो हमें आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित कर सकती है या हमारे पंख काटकर आगे बढ़ने के रास्ते बंद भी कर सकती है। ये हमपर निर्भर करता है कि हम कौन सी ताकत अपनाते है।


~ जैसा कि बिल्डर कहते हैं, छोटे पत्थरों के बिना बड़े पत्थर सही से नहीं लग सकते हैं।


~ कोई भी अच्छा निर्णय जानकारियो पर निर्भर करता है। आंकड़ों या संख्याओ पर नहीं।


~ अगर मनुष्य अपने आप पर काबू पा लेता है, तो वह उसकी सबसे महत्त्वपूर्ण जीत होती है।


~ जो लोग अच्छे होते है उन्हें किसी कानून की जरूरत नही होती है, क्योंकि वो लोग अपनी ईमानदारी और जिम्मेदारी से रहते है, जबकि जो लोग बुरे होते है वो कानून से बचकर अपनी इच्छा के अनुसार कार्य करने का मार्ग निकाल लेते है।


~ मनुष्य का आंकलन इस बात से किया जाता है कि वह ताकत मिलने के बाद क्या करता है।


~ हमारा अच्छा व्यवहार हमें शक्ति देता है और दूसरों को भी ऐसा ही व्यवहार करने के लिए प्रेरित करता है।


~ जिस प्रकार सबसे तेज आवाज एक खाली बर्तन करता है, उसी प्रकार मूर्ख लोग सबसे ज्यादा डिंगे हांकते है।


~ सभी व्यक्ति प्राकृतिक रूप से समान हैं, एक ही मिटटी से एक ही कर्मकार द्वारा बनाये गए और भले ही हम खुद को कितना भी धोखें में रख लें पर भगवान को जितना प्रिय एक शसक्त राजकुमार है उतना ही प्रिय एक गरीब किसान।


~ अगर किसी काम को थोड़े अच्छे से किया जाए तो वह बेहतर होता है बजाय इसके कि वो अपूर्ण छोड़ दिया जाए।


~ प्रेम के स्पर्श से सभी कवि बन जाते हैं।

 

~ जो आदमी अच्छा हैै, उस आदमी के साथ कभी भी बुरा नहीं हो सकता है, ना तो इस जीवन में और ना ही मरने के बाद।


~ प्रयास के बिना, आप समृद्ध नहीं बन सकते. भले ही जमीन उपजाऊ हो, खेती के बिना उसमे प्रचुर मात्रा में फसल नहीं उगाई जा सकती।


~ आश्चर्य, दार्शनिक की भावना है और दर्शन आश्चर्य से शुरू होता है।


~ अच्छा काम बार बार करने से कोई भी नुकसान नही है, अच्छे व्यक्ति की पहचान इस बात से होती है की वह शक्तियों के साथ क्या करता है।


~ मौत सबसे बुरी चीज नहीं है, जो इंसान के साथ हो सकती है।


~ एक नायक सौ लोगों में एक पाया जाता है, एक विद्वान व्यक्ति हजारों में एक पाया जाता है, लेकिन एक परिपूर्ण व्यक्ति शायद लाखों लोगों में भी ना मिले।


~ ऐसा समुदाय जहाँ ना तो गरीबी है और ना ही समृद्धि, हमेशा महान सिद्धांतो से बना हुआ होता है।


~ किसी भी इंसान के लिए खुद पर विजय प्राप्त करना, सभी जीतों में सबसे पहली और महान जीत है।


~ कोई भी इंसान किसी भी इंसान को आसानी से नुकसान पहुंचा सकता है, लेकिन हर व्यक्ति किसी के साथ अच्छा नहीं कर सकता है।


~ आप किसी इंसान के बारे में एक वर्ष के वार्तालाप की बजाय एक घंटे के खेल में ज्यादा जान सकते है।


~ एक व्यक्ति को कभी भी इन दो बातों पर क्रोध नही करना चाहिए, पहली वह किन लोगों की सहायता कर सकता है और दूसरा वह किन लोगों की मदद नही कर सकता है।


~ बिना कर्म किए कोई भी इंसान कामयाब नही हो सकता है, क्योंकि चाहे जमीन कितनी ही उपजाऊ क्यों ना हो, बीज बोए बिना उसमे फसल नही उगाई जा सकती है, फसल उगाने के लिए कर्म करना ही पड़ता है।


~ बहुत सारे अधूरे काम करने से अच्छा है कि हम थोड़ा सा ही काम करे, लेकिन बेहतर तरीके से।


~ सभी इंसान प्राकृतिक रूप से एक जैसे होते है, ईश्वर ने भी सबको समान मिट्टी से बनाया है, चाहे हम लोग स्वयं को कितने ही धोखे में रख ले, लेकिन ईश्वर को जितना प्रिय एक अमीर है, उतना ही प्रिय एक गरीब भी होता है।


~ कम वस्तुओं के साथ जीवन जीना ही सबसे बड़ी धन दौलत होती है।


~ कोई भी व्यक्ति किसी ऐसे व्यक्ति का दोस्त नहीं हो सकता है, जिससे उसे प्यार न मिले।


Thank you for reading Plato ke anmol vichar, दार्शनिक प्लेटो के विचार, Plato Quotes In Hindi, Plato ke anmol vachan, Plato Thought in hindi.


अन्य लेख -:


Please do follow -: Instagram Page

Post a Comment

Previous Post Next Post